…तो बढ़ेगी 4 वर्ष आयु

Source: नवभारत | Posted on 27 August 2018

…तो बढ़ेगी 4 वर्ष आयु

वायु प्रदूषण से होने वाली हानि और बीमारी से महाराष्ट्र के लोग वर्षों से हलाकान है. दिल्ली में पिछले दिनों हुए कार्यक्रम में एक रिपोर्ट पेश की गई. विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा निर्धारित मापदंड तक महाराष्ट्र राज्य में प्रदूषण को कम किया जा सका, तो यहा के नागरिकों की आयु 4 वर्ष से बढ] सकती है. इसे देखते हुए महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने स्टार रेटिंग कार्यक्रम की शुरुआत की है.

शहर में हुई कार्यशाला

उक्त उपक्रम अंतर्गत एक कार्यशाला शहर के ग्रीन प्लानेट सोसाइटी की सहायता से कला, वाणिज्य और विज्ञान महाविद्यालय तुकूम में आयोजित की गई. पथनाट्य के माध्यम से प्रदूषण रोकथाम के लिए जनजागृति की गई. वायु प्रदूषण के बारे में जनसहयोग वृद्धि और परिसर के उद्योग वास्तव में कितना प्रदूषण करते हैं, उनसे कैसे संवाद बनाये इस उद्देश्य से स्टार रेटिंग की टीम महाराष्ट्र में बीते कुछ महीने से कार्यशाला आयोजित कर रही है. प्रा. सुरेश चोपने की सहायता से चंद्रपुर में 6 कार्यक्रम हुए हैं. वर्ष भर जनजागृति करने वाले है. कार्यशाला में शिकागो विश्वविद्यालय के एपिक इंडिया और एमआईटी विश्वविद्यालय के जे पाल संस्थाओं का समावेश है.

सरकार व उद्योगों से जवाब मांगे : प्रा. चोपने

प्रा. चोपने ने कहा कि जिले में बढ़ रहे प्रदूषण के संबंध में लोगों को सामने आकर सरकार और उद्योगों से जवाब मांगना चाहिए. हर बार सरकार अपनी जिम्मेदारी से पल्ला नहीं झाड़ सकती. इसके लिए स्टार रेटिंग जैसी वेबसाइट की सहायता लेकर लोगों को सावधान करना अत्यंत महत्वूपर्ण है. कार्यक्रम में प्राचार्य मोहितकर और पर्यावरण विभाग प्रमुख प्रा. महेंद्र ठाकरे ने महाविद्यालय की भूमिका विषद की. एपिक के इशान चौधरी, जे. पाल के गार्गी पाल और प्रसिद्ध नाटक कलाकार सुशील सहारे ने विद्यार्थियों को मार्गदर्शन किया. कार्यशाला के दौरान शहर में वायु प्रदूषण पर एक पथनाट्य भी प्रस्तुत किया गया.