महाराष्ट्र: 100 और इंडस्ट्रीज का प्रदूषण मॉनिटर करेगी राज्य सरकार, 414 पहुंचा आंकड़ा

महाराष्ट्र: 100 और इंडस्ट्रीज का प्रदूषण मॉनिटर करेगी राज्य सरकार, 414 पहुंचा आंकड़ा

Source: Navbharat Times | Posted on 23 August 2019

महाराष्ट्र: 100 और इंडस्ट्रीज का प्रदूषण मॉनिटर करेगी राज्य सरकार, 414 पहुंचा आंकड़ा

मुंबई: वायु प्रदूषण से लड़ाई के बीच राज्य सरकार ने 100 से ज्यादा और इंडस्ट्रियों को मॉनिटर करने का फैसला किया है। इसके तहत अब ऐसी इकाइयों की भी मॉनिटरिंग की जाएगी जिनसे बायो-मेडिकल वेस्ट निकलता है। महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो के एनर्जी पॉलिसी इंस्टिट्यूट और दूसरे संस्थानों के साथ मिलकर इस इंडस्ट्रियल स्टार-रेटिंग प्रोग्राम को लॉन्च करने वाला महाराष्ट्र देश का पहला राज्य है।

सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर महाराष्ट्र में

यह प्रोग्राम जून 2017 में लॉन्च किया गया था जिसके तहत इंडस्ट्रियल प्लांट्स को उनकी चिमनी से निकलने वाले पार्टिकुलेट मैटर उत्सर्जन के औसतन कॉन्सनट्रेशन के आधार पर स्टार रेटिंग दी जाती है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा ऐसे शहर हैं जिनकी एयर क्वॉलिटी राष्ट्रीय स्तर की तुलना में खराब है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक महाराष्ट्र फिलहाल सबसे ज्यादा प्रदूषित राज्य उत्तर प्रदेश को भी पीछे छोड़ सकता है।

ठाणे में हैं सबसे ज्यादा खतरनाक इंडस्ट्रीज

अभी तक राज्य सरकार 300 इंडस्ट्रीज को मॉनिटर कर रही थी। अब यह आंकड़ा 11 सेक्टर्स की 414 इंडस्ट्रीज तक पहुंच गया है। अलग-अलग जिलों से 103 इंडस्ट्रीज को शामिल किया गया है। इनमें से 63% बेहद प्रदूषण फैला रही हैं और उन्हें 1 स्टार रेटिंग दी गई है। इंडस्ट्रियल पलूशन के मामले में ठाणे सबसे ज्यादा नुकसान झेल रहा है। प्रोग्राम में जोड़ी गईं इंडस्ट्रीज में से ज्यादातर ठाणे में हैं।

बायो वेस्ट वाली इंडस्ट्रीज भी शामिल

बोर्ड के अगस्त 2018 के डेटा के मुताबिक सबसे ज्यादा 48 खतरनाक इंडस्ट्रीज ठाणे में हैं, जिनमें से 6 केमिकल सेक्टर की, एक पेपर और एक मेटल सेक्टर की हैं। ठाणे के अलावा 4 नागपुर और नासिक, 3 औरंगाबाद और चंद्रपुर, 13 रायगड़ और 6 रत्नागिरी से हैं। एक प्रवक्ता ने बताया है कि बायो-मेडिकल वेस्ट निकालने वाली यूनिट्स के आसपास रहने वाले लोगों ने इस बारे में शिकायत की थी। इसके बाद इन इंडस्ट्रीज को रेटिंग लिस्ट में जोड़ा गया है।